होम समाचार राष्ट्रीय खबर VIDEO – भाजपा के इस नेता ने फिर से की सभी हदे पार!

VIDEO – भाजपा के इस नेता ने फिर से की सभी हदे पार!

0
1,168

आजकल राजनीति का नया अड्डा बन चुके है न्यूज चैनल, डिबेट शो पर डिबेट कम और गाली गलोच ज्यादा होता है। अब ना एंकर कम है और ना ही नेता। सब बस शो पर बैठकर चिल्ला रहे है। सही मुद्दों पर नहीं बकवास मुद्दों पर चर्चा होने लगी है। ऐसा ही कुछ हुआ फिर एक बार। इस बार एंकर नहीं बल्कि नेता लोग झगड़ रहे थे। एक तरफ थे बीजेपी के नेता और दूसरी तरफ एक वरिष्ठ वकील।

हुआ यूंकि, एनआईए ने रविवार को कश्मीर घाटी में आतंकवादियों को धन मुहैया कराने के मामले में अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी से जुड़े एक वकील के कार्यालय और आवास पर छापे मारे। इसी को लेकर एक टीवी डिबेट में शामिल कश्मीरी मूल की सुप्रीम कोर्ट में अधिवक्ता शबनम लोन और बीजेपी प्रवक्ता प्रेम शुक्ला के बीच तीखी बहस हो गई। बहस इतनी तीखी थी कि हर बार की तरह प्रेम शुक्ला अपना आपा खो बैठे।

भाजपा नेता प्रेम शुक्ला ने कहा कि अमेरिका और पाकिस्तान के टुकड़ों पर पलने वालो को सुनना हमारी मजबूरी नहीं है। प्रेम के इतना कहते ही शबनम लोन भड़क गई और उन्हें शट अप बोल दिया। इसके बाद भाषा की मर्यादा टूटनी शुरू हो गई। शबनम लोन ने कहा कि महबूबा मुफ्ती ने तिरंगे के बारे में क्या कहा, देश को बेचकर खाया है आप लोगों ने। ये सुनने के बाद प्रेम शुक्ला कहा रूकने वाले थे, उन्होंने शबनम को आतंकवादी, अलगाववादी की बेटी बताते हुए कहा कि पाकिस्तान के टुकड़ों पर पलने वाली। पाकिस्तान के तलुए चाटने वालों चुप रहो। इस देश में खून बहाने वालों की दलाली करने वालों चुप रहो। हदे पार होने के बाद शबनम ने बहस से हटने की बात कही तब एंकर ने बीच बचाव कराया।

यह भी पढ़ें:  तेजप्रताप ने कहा, अपने चाचा नीतीश और सुशील मोदी को चीर कर फाड़ देंगे!

बता दे कि ये पहला मौका नहीं है, जब प्रेम शुक्ला ने इस तरीके के बात की हो। कई बार टीवी डिबेट में प्रेम शुक्ला इस तरीके का बरताव कर चुके है। चाहे वो महिला हो या पुरूष भाजपा के इस नेता को इससे कोई फर्क नहीं पड़ता। आप लाइव टीवी पर हो किसी पार्टी के लिए बाते रखने आए हो, कोई फर्क नहीं पड़ता। ऐसे में न्यूज चैनल की भी जिम्मेदारी बनती है कि वो इस तरह के नेता जो तमीज भूल के बात करते हो उन्हें ना बुलाए चाहे वो किसी भी पार्टी का हो। लेकिन टीआरपी चीज ऐसी है कि चलता है जनाब।

बस ये चलता है जनाब के चक्कर में सब चलता है। यहां एक बात और कहना चाहेंगे ऐसे मसलों पर हम भी कुछ खास नहीं करते।

अधिक में लोड करें राष्ट्रीय खबर

प्रातिक्रिया दे

इसके अलावा चेक करें

राष्ट्र निर्माण संगठन ने शुरू किया देश को बचाने का अंतिम प्रयास

राष्ट्र निर्माण संगठन की तरफ से भारत की बढ़ती जनसंख्या को लेकर चिंता जाहिर की गई है। संगठन…