होम समाचार राष्ट्रीय खबर भाजपा ने की हदे पार, अब नए साल के पीछे पड़ी भाजपा!

भाजपा ने की हदे पार, अब नए साल के पीछे पड़ी भाजपा!

0
115

भाजपा ने की हदे पार, अब नए साल के पीछे पड़ी भाजपा!

भारतीय जनता पार्टी के लिए अब शब्द कम पड़ने लगे है, कौन सोच सकता है केंद्र सरकार से लेकर देश के सबसे ज्यादा राज्यों में सत्ता पर काबिज भाजपा गलत एजेंडे पर चलना शुरू कर देगी। भाजपा पर हमेशा से ही भगवा का प्रचार प्रसार करने का आरोप लगता है, पिछले 3 सालों में भाजपा ने इन आरोपों को सिद्ध करने में कोई कमी नहीं छोड़ी। आज बीजेपी के नेतागण देश को हिंदू राष्ट्र बनाने के लिए हर लेवल को पार करने में लगे है। हर दूसरे धर्म के त्यौहार पर हमला किया जा रहा है, उसे हिंदू धर्म के खिलाफ बताया जा रहा है, अब नया साल भाजपा के निशाने पर है।

भाजपा को पसंद नहीं नया साल

नया साल आने वाला है जहां पूरे देश में नए साल को लेकर धूम है। वहां भाजपा ने इसके खिलाफ बोलना शुरू कर दिया है। मध्यप्रदेश में भारतीय जनता पार्टी के नेता इसे लेकर कुछ तल्ख नजर आ रहे हैं। कुछ ने तो यहां तक कहा कि नये साल का स्वागत विदेशी परंपरा है। मध्यप्रदेश के पंचायती राज मंत्री गोपाल भार्गव के लिये नये साल में कुछ नहीं बदलेगा। उनका कहना है कि मेरे पास जश्न मनाने के पैसे नहीं हैं, मेरे लिये सब एक जैसा है। मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता।

यह भी पढ़ें:  मोदी सरकार फिर करेगी आपको कंगाल, जाएगा सारा पैसा!

देश में सारे पर्व हिंन्दू कैलेंडर के हिसाब से होने चाहिए

इतना काफी नहीं था कि, उज्जैन से बीजेपी विधायक मोहन यादव ने कहा कि ‘देश में सारे पर्व हिन्दू कैलेंडर के हिसाब से होने चाहिए। ये दुर्भाग्यपूर्वण है कि शराब पार्टी जैसी चीजों से नौजवान प्रभावित हो रहे हैं। हमारे लिये गुडी पाड़वा नया साल है। इधर, उच्च शिक्षा मंत्री जयभान पवैया का मानना है कि जब देश की संस्कृति मजबूत होगी, तब लोग इस बारे में तय कर लेंगे। पवैया ने कहा ये ईसाइयों में होता है, ये उनकी परंपरा है। जो लोग पश्चिमी सभ्यता को मानते हैं वो मनाते हैं, मैं क्यों विरोध करूं, ये प्रजातंत्र है।

आप से एक अपील

वायरल इंडिया न्यूज आप सभी से एक अपील करना चाहता हैं। आपको हमारे द्वारा पोस्ट की गई ख़बर अच्छी लगती है तो उसे जरूर शेयर करें। ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों तक सच पहुंच सके। साथ ही अगर आप हमारी किसी बात से सहमत या असहमत है तो वो भी जरूर बताएं। हमारी कोशिश है कि हम देश को सच दिखा सके और इस कोशिश में हमें आपकी सहायता की जरूरत हैं।

अधिक में लोड करें राष्ट्रीय खबर

प्रातिक्रिया दे

इसके अलावा चेक करें

राष्ट्र निर्माण संगठन ने शुरू किया देश को बचाने का अंतिम प्रयास

राष्ट्र निर्माण संगठन की तरफ से भारत की बढ़ती जनसंख्या को लेकर चिंता जाहिर की गई है। संगठन…