होम समाचार राष्ट्रीय खबर राष्ट्र निर्माण संगठन ने शुरू किया देश को बचाने का अंतिम प्रयास

राष्ट्र निर्माण संगठन ने शुरू किया देश को बचाने का अंतिम प्रयास

0
113

राष्ट्र निर्माण संगठन की तरफ से भारत की बढ़ती जनसंख्या को लेकर चिंता जाहिर की गई है। संगठन की माने तो भारत में खतरनाक रूप से बढ़ती असंतुलित जनसंख्या के कारण देश की एकता, अखंडता, सम्प्रभुता तथा लोगों की धार्मिक स्वतंत्रता के अधिकारों पर गंभीर खतरा उत्पन्न हो गया है।

आबादीगत परिवर्तन की इस गंभीर चुनौती को देखते हुए देश में जनसंख्या नियंत्रण हेतु एक कठोर कानून के निर्माण की गहन आवश्यकता महसूस की जा रही है। राष्ट्रीय सुरक्षा, एकता, अखंडता और संप्रभुता से जुड़ी इस गंभीर समस्या का निदान बिना कठोर कानून बनाये संभव नहीं है। इसीलिए ‘राष्ट्र निर्माण संगठन’ ने देश में जनसंख्या नियंत्रण कानून बनाने के लिए केन्द्र सरकार, संसद और तमाम राजनीतिक दलों पर दबाव बनाने के लिए ‘भारत बचाओ महा रथयात्रा’ के आयोजन का निर्णय किया है। जाने माने समाजसेवी और वरिष्ठ पत्रकार व संपादक सुरेश चव्हाणके के नेतृत्व में आयोजित यह महा रथ-यात्रा देश में पहली बार इस गंभीर मुद्दे पर राष्ट्रव्यापी जन जागरण का कार्य करेगी।

देश में राष्ट्रहित के किसी ऐसे मुद्दे पर किसी गैर-राजनीतिक संगठन व व्यक्ति के द्वारा आयोजित यह पहली और ऐतिहासिक यात्रा है, जो 18 फरवरी 2018 प्रात: 11 बजे जम्मू से शुरू होगी और देश के सभी प्रमुख राज्यों से गुजरती हुई करीब 20 हज़ार किलोमीटर की दूरी तय कर 22 अप्रैल 2018 को दिल्ली में सम्पन्न होगी।  इस महा रथयात्रा में करीब 25 करोड़ लोगों की प्रत्यक्ष सहभागिता होने का अनुमान है।
सुरेश चव्हाणके ने इस यात्रा के दौरान देश में जनसंख्या नियंत्रण कानून बनाने के लिए करीब 10 करोड़ लोगों का अभूतपूर्व जनसमर्थन (हस्ताक्षर, ऑनलाइन आवेदन और मिसकॉल द्वारा) जुटाने का लक्ष्य रखा है। इस यात्रा के मुख्य पड़ाव जम्मू, चंडीगढ़ लखनऊ,वाराणसी, पटना, कोलकाता, भुवनेश्वर, हैदराबाद, तिरुपति, बैंगलोर, कन्याकुमारी से लेकर मुंबई,चेन्नई, तिरुअनंतपुरम, गांधीनगर, जयपुर और देहरादून आदि होंगे। पूरी यात्रा उपग्रह आधारित जीपीएस नियंत्रित कैमरों की निगरानी में होगी। इस महा रथयात्रा में करीब 100 गाडियों का काफिला होगा।

यह भी पढ़ें:  सोशल मीडिया पर बना मोदी के विकास के नारे का मजाक, लोगों ने कहा, विकास पागल हो गया है!

इस दौरान देश में जनसंख्या नियंत्रण कानून बनाने की आवश्यकता बताने के लिए वृत्त चित्र का प्रदर्शन और कुल 22 भाषाओं में पुस्तिका का वितरण कर जनता को जागृत करने का कार्य किया जाएगा। समूची यात्रा का सीधा प्रसारण देश के विभिन्न चैनलों, तथा सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स के जरिये लगातार किया जाएगा। इस यात्रा को सफल बनाने के लिए देश भर में करीब 2000 से अधिक समितियों का गठन किया जा चुका है। दिल्ली में इस संवेदनशील यात्रा पर निगरानी के लिए एक अत्याधुनिक वार रूम बनाया जा चुका है, जिसके जरिये ‘भारत बचाओ महा रथयात्रा’ की पल-पल की सचित्र जानकारी उपलब्ध होती रहेगी।

सुरेश चव्हाणके ने बताया कि इस ऐतिहासिक भारत बचाओ यात्रा के बारे में विस्तृत जानकारी देश के राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री व केन्द्रीय मंत्रियों के अलावा सभी दलों के नेताओं को भी दिया जा रहा है। इस यात्रा को केंद्र सरकार के कई मंत्रियों, विभिन्न दलों के सांसदों, विधायकों, देश भर के धर्मगुरूओं, वैज्ञानिकों, सामाजिक कार्यकर्ताओं, शिक्षकों, विविध स्वयंसेवी संगठनों सहित समस्त बुद्धिजीवियों का अपार समर्थन मिल रहा है।

आप से एक अपील

वायरल इंडिया न्यूज आप सभी से एक अपील करना चाहता हैं। आपको हमारे द्वारा पोस्ट की गई ख़बर अच्छी लगती है तो उसे जरूर शेयर करें। ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों तक सच पहुंच सके। साथ ही अगर आप हमारी किसी बात से सहमत या असहमत है तो वो भी जरूर बताएं। हमारी कोशिश है कि हम देश को सच दिखा सके और इस कोशिश में हमें आपकी सहायता की जरूरत हैं।

अधिक में लोड करें राष्ट्रीय खबर

प्रातिक्रिया दे

इसके अलावा चेक करें

मोदी सरकार की ये योजना भी फेल, जवाब देंगे मोदी?

मोदी सरकार की ये योजना भी फेल, जवाब देंगे मोदी? नए साल की शुरूआत हो चुकी है लेकिन नया साल …