होम समाचार अंतरराष्ट्रीय खबर रिपोर्ट में दावा- मोदी सरकार का स्वच्छ अभियान हो चुका है फेल

रिपोर्ट में दावा- मोदी सरकार का स्वच्छ अभियान हो चुका है फेल

0
120

मोदी सरकार का स्वच्छ अभियान हो रहा है फेल, लोग नहीं दे रहे साथ।

केंद्र की मोदी सरकार ने कुछ साल पहले एक योजना शुरू की, योजना का नाम रखा गया स्वच्छ भारत। मकसद सिर्फ एक, देश को स्वच्छ बनाना है। मकसद अच्छा था तो पूरा देश साथ आ गया, लोगों ने पीएम मोदी की इस योजना की जमकर सराहना की। विपक्ष ने थोड़ा बोला लेकिन अंत में सभी ने पीएम मोदी की इस योजना पर साथ देने का फैसला किया। कांग्रेस और बाकी पार्टियों के कई सांसदों ने स्वच्छ भारत मिशन में भाग लिया।

कई सो करोड़ रूपए का प्रचार किया गया, पखवाड़े किए गए लेकिन क्या सच में कुछ हुआ है। आज मोदी सरकार को सत्ता संभाले हुए या कहे कि इस योजना को शुरू किए कई साल हो गए है लेकिन क्या सच में उतने हालात बदले है, जितने बदलने थे। तो हम कहेंगे नहीं। जो काम जोश में शुरू किया गया वो जोश अब ठंडा पड़ गया है। अब एक नई रिपोर्ट आई है, जिसके मुताबिक योजना फेल हो रही है।

वाटर एड्स की स्टेट ऑफ द वर्ल्ड टॉयलेट्स 2017 रिपोर्ट में कई दावे

वाटर एड्स की स्टेट ऑफ द वर्ल्ड टॉयलेट्स 2017 रिपोर्ट की तरफ से नई रिपोर्ट जारी की गई है। जो मोदी सरकार की इस योजना की सच्चाई सभी के सामने लाई है। इस योजना के फेल होने से देश फेल हो रहा है। मोदी सरकार भारत को स्वच्छ बनाने की दिशा में अनेकों प्रयास कर रही हैं, मगर भारत के लोग बुनियादी साफ-सफाई के मामले में काफी पीछे हैं। इस रिपोर्ट में ये बात सामने आई है कि आबादी के लिहाज से दुनिया के दूसरे सबसे बड़े देश भारत में बुनियादी साफ-सफाई के बिना रहने वाले लोगों की संख्या सबसे ज्यादा है।

यह भी पढ़ें:  नोटबंदी को लेकर राजन ने बोली ऐसी बात की नहीं आएगी मोदी को रास!

भारत के लोग अभी भी खुले में शौचे ज्यादा करते है

रिपोर्ट कहती है कि भारत में स्वच्छ भारत मिशन के तहत हुई व्यापक प्रगति के बावजूद 73.2 करोड़ से ज्यादा लोग या तो खुले में शौच करते हैं या फिर असुरक्षित या अस्वच्छ शौचालयों का इस्तेमाल करते हैं। यह स्थिति महिलाओं और लड़कियों के लिये और खराब है। भारत में करीब 35.5 करोड़ महिलाओं और लड़कियों को अब भी शौचालय का इंतजार है।

असर आया पर कमी भी आ गई

सरकारी आंकड़ों के हवाले से ये रिपोर्ट कहती है कि स्वच्छ भारत मिशन के जरिये साफ-सफाई की स्थिति में निसंदेह काफी प्रगति हुई है। लेकिन अभी भी हालात इतने अच्छे नहीं है।

मोदी सरकार और लोग आए साथ

यहां मोदी सरकार को इस योजना को ओर बेहतर तरीके से लागू करना चाहिए, बोल बच्चन की जगह वो चीज करनी चाहिए जिससे योजना सफल हो। वहीं भारत के लोगों को भी समझने की जरूरत है कि देश अपना है, उसे स्वच्छ रखना जरूरी है।

आप से एक अपील

वायरल इंडिया न्यूज आप सभी से एक अपील करना चाहता हैं। आपको हमारे द्वारा पोस्ट की गई ख़बर अच्छी लगती है तो उसे जरूर शेयर करें। ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों तक सच पहुंच सके। साथ ही अगर आप हमारी किसी बात से सहमत या असहमत है तो वो भी जरूर बताएं। हमारी कोशिश है कि हम देश को सच दिखा सके और इस कोशिश में हमें आपकी सहायता की जरूरत हैं।

अधिक में लोड करें अंतरराष्ट्रीय खबर

प्रातिक्रिया दे

इसके अलावा चेक करें

राष्ट्र निर्माण संगठन ने शुरू किया देश को बचाने का अंतिम प्रयास

राष्ट्र निर्माण संगठन की तरफ से भारत की बढ़ती जनसंख्या को लेकर चिंता जाहिर की गई है। संगठन…